Home Health चुकंदर खाने के फायदे | 

चुकंदर खाने के फायदे | 

चुकंदर खाने के फायदे | Chukandar Khane ke Fayde

दोस्तों आज हम इस लेख में बात करेंगे चुकंदर खाने के फायदे | Chukandar Khane ke Fayde  के सम्बन्ध में, चुकंदर खाने के फायदे क्या है, चुकंदर की तासीर क्या है? चुकंदर कैसे खाया जाता है?, 1 दिन में कितने चुकंदर खाना चाहिए? चुकंदर का जूस पीने से क्या फायदे होते हैं? पुरुषों के लिए चुकंदर लाभ, शुगर में चुकंदर खाने के फायदे आज हम इन सब चीज़ों के बारे में जानने वाले हैं , तो आइये जानते हैं,  दोस्तों आप इस लेख को ध्यान से पढ़ें,  यदि आप चुकंदर के स्वास्थ्य लाभों को जानते हैं, तो प्रकृति का यह उपहार आपको कई सामान्य बीमारियों से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है। 

आम बोलचाल में कहा जाता है कि सब्जी जितनी ज्यादा खूबसूरत रंग की होगी, उसमें एंटीऑक्सीडेंट भी उतना ही ज्यादा होगा।

चुकंदर खाने के क्या क्या फायदे होते हैं  | 

  • चुकंदर के गहरे लाल रंग में एक पोषक तत्व (कैनन) होता है जो एक समृद्ध एंटीऑक्सीडेंट है। जो खराब कोलेस्ट्रॉल को बनने से रोकता है,
  • चुकंदर में मौजूद नाइट्रेट हृदय की धमनियों को फैलने और सिकुड़ने से रोकता है और रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाता है।
  • चुकंदर में पोटैशियम भी होता है, जो हृदय की धमनियों में रक्त का प्रवाह बनाए रखता है और रक्त को थक्का बनने से रोकता है।
  • यानी अगर आप रोजाना चुकंदर खाते हैं तो भूल जाइए कि आपको हार्ट अटैक हो सकता है।
  • दिखने में लाल चुकंदर आपकी सेहत के लिए कई तरह से अहम भूमिका निभाता है। आजकल चुकंदर पूरे साल बाजार में उपलब्ध रहता है लेकिन, सर्दियों में चुकंदर को बेहतर माना जाता है।

चुकंदर खाने के फायदे | 

चुकंदर आयरन, विटामिन, फोलिक एसिड और खनिजों का एक अच्छा स्रोत है। चुकंदर शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाता है और खून को साफ़ करता है। इसमें पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट (विशेषकर बीटाजेनिन) शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करते हैं। इसके अलावा नाइट्रेट, बीटािन, मैग्नीशियम, फास्फोरस, सोडियम, विटामिन बी1, बी2 और विटामिन सी सभी बीटा के औषधीय गुणों को बढ़ाते हैं।

प्राचीन काल से ही चुकंदर का उपयोग बुखार, कब्ज और त्वचा की समस्याओं सहित कई बीमारियों से बचाव के लिए किया जाता रहा है। साथ ही चुकंदर हाई ब्लड प्रेशर (बीपी) को भी कंट्रोल करता है। चुकंदर गर्भवती महिलाओं में दृष्टि में सुधार और फोलिक एसिड की कमी को पूरा करने के लिए सक्रिय रूप से काम करता है। इसलिए डॉक्टर आपके दैनिक आहार में चुकंदर को शामिल करने की सलाह देते हैं। चुकंदर का सलाद और सूप बनाने के अलावा इसे सैंडविच में अन्य सब्जियों के साथ भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

लब्बोलुआब यह है कि इस अनोखे उपहार (बीटा) के कई फायदे हैं। आइए बीटा के पांच लाभों और स्वास्थ्य के लिए बीटा के घरेलू उपचार पर एक नजर डालते हैं।

चुकंदर से कब्ज के घरेलू उपचार 

2- 100  मिली 25 मिलीलीटर बीटा जूस लें। गाजर का रस और 25 मिली। टमाटर का रस मिलाएं। 1/2 छोटा चम्मच नींबू का रस और स्वादानुसार काला नमक मिलाएं। इसे दिन में एक बार पीना जरूरी है। यह उपाय कब्ज से पीड़ित रोगी को कुछ ही दिनों में ठीक कर देता है

किडनी स्टोन के लिए घरेलू उपचार

1 चुकंदर को कद्दूकस कर लें। इसे 250 मिली पानी में मिलाकर उबाल लें। अब इस पानी को छान कर ठंडा होने दें। इस 30 मिलीलीटर बीटा पानी को दिन में 4 बार पिएं। इस मिश्रण को रोजाना लेने से कुछ ही हफ्तों में गुर्दे की पथरी सिकुड़ जाती है और ये पथरी पेशाब के रास्ते बाहर निकल जाती है।

सिर की जूँ के लिए घरेलू उपचार 

चुकंदर का एक पत्ता 1 लीटर पानी में डालकर अच्छी तरह उबाल लें। अब इस पानी को छान कर ठंडा होने दें। रोजाना इस पानी से सिर धो लें। इससे सिर की जुएं बहुत जल्दी दूर हो जाती हैं।

 

4) उच्च रक्तचाप के घरेलू उपचार 

एक चुकंदर को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें और चुकंदर के 3 ताजे पत्तों को काटकर मिला लें और इसका रस निकाल लें। इस 100 मिलीलीटर चुकंदर के रस को दिन में दो बार पिएं। यह उपाय उच्च रक्तचाप को सामान्य करता है

5) खून की कमी के लिए चुकंदर

50 मिली बीटा रस लें  इसमें 50 मिली. पालक का रस, 75 मिली गाजर का रस और 25 मिली। सेब के रस को अच्छी तरह मिला लें। इसे दिन में एक बार पीना जरूरी है। इससे खून की कमी बहुत जल्दी पूरा हो जाती है।

चुकंदर के अन्य लाभ

मासिक धर्म की समस्याओं के लिए: बीटा में आयरन और फोलिक एसिड ज़्यादा  होता है, इसके इस्तेमाल से महिलाओं को मासिक धर्म की समस्या नहीं होती है।

पाचन के लिए: चुकंदर लीवर को साफ करने का भी काम करता है। नींबू के रस में बीटा जूस मिलाने से पाचन क्रिया पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

हृदय रोग का इलाज : बीटा जूस हृदय रोग को दूर करता है। बीटा जूस में नाइट्रेट नाम का केमिकल होता है, जो ब्लड प्रेशर को कम करता है। इससे हृदय रोग का खतरा कम होता है। व्यायाम के दौरान बीटा जूस ब्लड प्रेशर को स्थिर रखता है।

उम्र के साथ हमारी ताकत कम होती जाती है। बुजुर्गों में बीटा के सेवन से एनर्जी बढ़ती है। व्यायाम करते समय वृद्ध लोगों को अधिक ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। एक्सरसाइज से पहले बीटा जूस का सेवन करना फायदेमंद होता है।

चुकंदर दिमाग को तेज बनाता है*

आजकल लगातार तनाव, नींद की कमी और पर्यावरण प्रदूषण के कारण न केवल बूढ़े बल्कि युवा भी memory loss से पीड़ित हैं।

आपने सुना होगा कि बादाम खाने से दिमाग तेज होता है, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि चुकंदर खाने से दिमाग तेज होता है।

 चुकंदर se कैंसर का इलाज*

चुकंदर के रस का इस्तेमाल कोलन और लीवर कैंसर में सालों से किया जा रहा है। लीवर कैंसर में रोजाना एक गिलास चुकंदर का जूस पीने से कैंसर के कीटाणु कमजोर हो जाते हैं और लीवर की कार्यप्रणाली में सुधार आता है, इसलिए चुकंदर को लीवर का सबसे अच्छा दोस्त भी कहा जाता है।

 महिलाओं के लिए जरूरी है चुकंदर*

चुकंदर में ऐसे रासायनिक तत्व (बैटन) होते हैं जो महिलाओं के मासिक धर्म चक्र को बेहतर बनाते हैं, लाल चुकंदर महिला अंगों के लिए एक पौष्टिक भोजन है, uterine weakness में दवा के रूप में उपयोग करना बहुत उपयोगी होता है।

गर्भवती महिलाओं के लिए भी चुकंदर का सेवन बहुत फायदेमंद होता है*,

गर्भावस्था के दौरान एनीमिया, मांसपेशियों में ऐंठन, एडिमा, हड्डियों में दर्द या गर्भपात जैसी समस्याओं के जोखिम को कम करता है।

चुकंदर में मौजूद आयरन, विटामिन ए, ई , मां को पूर्ण स्वास्थ्य और बच्चे को पूर्ण विकास देता है।

चुकंदर में खून को साफ करने की क्षमता होती है, जो बच्चे को हर तरह के संक्रमण से बचाती है।

स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए भी चुकंदर बेहद उपयोगी है क्योंकि यह दूध के पोषण और मात्रा को बढ़ाता है।

 चुकंदर सिरदर्द और दांत दर्द से राहत दिलाता है

अगर दिमाग में लगातार भारीपन रहता है, माइग्रेन बना रहता है, तो एक मध्यम आकार के चुकंदर को काटकर उबाल लें, इसे ठंडा करके चबाएं, सिरदर्द धीरे-धीरे कम हो जाएगा।

चुकंदर के पत्तों को उबालकर कुल्ला करने से मसूढ़ों और दांतों के दर्द में आराम मिलता है

चुकंदर  बालों को मजबूत बनता है

चुकंदर में मौजूद प्रोटीन, फॉस्फोरस, पोटैशियम और मिनरल्स स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाते हैं, जिससे डेड सेल्स मर जाते हैं और नए बाल उगते हैं।

चुकंदर का पानी बालों की जड़ों को मजबूत करता है।जब इसमें मौजूद जरूरी पोषक तत्व रोमछिद्रों में समा जाते हैं, तो नए और स्वस्थ बाल उगने लगते हैं।

  • चुकंदर में एंटीसेप्टिक गुण भी होते हैं जो डैंड्रफ को खत्म करते हैं,
  • चुकंदर का गहरा लाल रंग प्राकृतिक हीरे के रंग के रूप में प्रयोग किया जाता है।
  • चुकंदर के रस के अलावा इसका तेल बालों के लिए भी बहुत उपयोगी होता है।
  • चुकंदर का तेल बनाने के लिए एक पाउंड सरसों के तेल में दो चुकंदर डाल कर पका लें, चुकंदर के टुकड़ों को तेल से न निकालें और रोजाना इस्तेमाल करें।

चुकंदर उम्र छुपाता है, young दिखाता है

चुकन्दर खाने औ उसका रस चेहरे पर लगाने से त्वचा के सभी रोग जैसे खुजली, रैशेज, फुंसी, त्वचा पर चकत्ते आदि ठीक हो जाते हैं।

  • चुकंदर के रस में जैतून का तेल मिलाकर रूई के साथ लगाने से चेहरे के दाग-धब्बे दूर होते हैं और उम्र के साथ झुर्रियां भी दूर होती हैं।
  • त्वचा ताजा, गुलाबी और मुलायम हो जाती है।
  • जले हुए निशानों को दूर करने के लिए भी चुकंदर का जूस फायदेमंद होता है।

 वजन कम करना 

जो लोग fatty and poultry food के शौकीन हैं उन्हें अपने जीवन में नियमित रूप से चुकंदर का सेवन करना चाहिए।

चुकंदर शरीर से toxins को जल्दी निकाल देता है, इसलिए जो लोग डाइटिंग नहीं कर रहे हैं उन्हें चुकंदर का सेवन अधिक करना चाहिए।


हल्दी के सौंदर्य फायदे/ Turmeric benefits in Hindi
आलू बुखारा के फायदे / Plum Benefits
सूखे आलूबुखारा के फायदे
स्ट्रॉबेरी के अद्भुत और स्वस्थ लाभ
What is calorie in hindi
आलू बुखारा के फायदे / Plum Benefits
https://hi.wikipedia.org/wiki

01
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

href="https://www.thegoldenmart.com/classified">which is the best electric car in india 2021 on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।