Home Information Internet का मालिक कौन है ?  

Internet का मालिक कौन है ?  

Internet का मालिक कौन है ?  

आज के इस लेख में जानेगे internet का मालिक कौन है ? सोचें अगर इंटरनेट मालिक कोई व्यक्ति या देश होता तो वह देश या वयक्ति कितना अमीर हो जाता. लेकिन सच्चाई कुछ और है आइये जानते हैं ।

यदि आप अपने फोन पर इंटरनेट का उपयोग कर रहे हैं, तो आपने सोचा होगा कि इंटरनेट का मालिक कौन है, लेकिन कई इंटरनेट उपयोगकर्ता अपने internet service provider  (आईएसपी) को इंटरनेट का मालिक मानते हैं। इंटरनेट जैसे अगर आप  Airtel के Simcard का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उनके लिए इंटरनेट का मालिक Airtel  है लेकिन ऐसा नहीं है, इस पोस्ट में हम यह पता लगाने की कोशिश करेंगे कि इंटरनेट का मालिक कौन है। (इंटरनेट का मालिक कौन है?)

अगर आप ऐसा सोचते हैं तो आप गलत हैं। बेशक Airtel, Reliance, Idea, Vodafone जैसी कंपनियां हम सभी को इंटरनेट मुहैया कराती हैं लेकिन उन कंपनियों के पास इंटरनेट का मालिकाना हक नहीं है।

यदि आप हमारी पोस्ट पढ़ रहे हैं, तो आप हजारों किलोमीटर दूर सर्वर से प्राप्त कर रहे हैं। जब यह पोस्ट सर्वर से आपके डिवाइस पर आ रही है, तो आपके डिवाइस और सर्वर के बीच एक कनेक्शन बनाया जाता है। 

आपको इस कनेक्शन के लिए भुगतान करना होता है । जो आप अपने देश में इंटरनेट प्रोवाइडर्स जैसे Idea, Vodafone, Airtel आदि को देते हैं। ये कंपनियां केवल देश तक ही सीमित हैं, इसलिए वे अंतरराष्ट्रीय कंपनी को आगे भुगतान करती हैं।  Internet का मालिक कौन है ?  

इंटरनेट की शुरुआत कब हुई?

1969 में, अमेरिकी रक्षा विभाग ने एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी (ARPA) नामक एक नेटवर्क लॉन्च किया, जिसका इस्तेमाल युद्ध के दौरान एक दूसरे को गोपनीय जानकारी देने के लिए किया जाता था। 1972 में, RetomLison ने पहला ईमेल संदेश पेश किया, और जैसे-जैसे ईमेल के माध्यम से जानकारी भेजने के फायदों की खोज की गई, इसका उपयोग बढ़ता गया और नेटवर्क लोकप्रिय हो गया।

इंटरनेट क्या है?

इंटरनेट एक ऐसा नेटवर्क है जो दो या दो से अधिक कंप्यूटरों को जोड़ता है, जिससे आप दुनिया भर में एक दूसरे को डेटा ट्रान्सफर करने के लिए इंटरनेट, क्लाइंट और सर्वर से जुड़े कंप्यूटरों का उपयोग करके कुछ ही सेकंड में किसी भी जानकारी को एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर या मोबाइल  में ट्रान्सफर कर सकते हैं।

इंटरनेट आप तक कैसे पहुंचता है?

Fiber optic cable का उपयोग दुनिया भर में हाई स्पीड इंटरनेट देने के लिए किया जाता है, जो समुद्र में फैला हुआ है, इन फाइबर ऑप्टिक केबल की मदद से इंटरनेट दुनिया भर में प्रसारित होता है।

fiber optic cable का उपयोग क्यों करें?

फाइबर ऑप्टिक केबल की डेटा ट्रांसफर गति अन्य केबलों की तुलना में अधिक होती है क्योंकि फाइबर ऑप्टिक केबल को छोड़कर सभी केबलों में डेटा electric current के रूप में प्रसारित होता है ।

 लेकिन फाइबर ऑप्टिक केबल में डेटा ट्रांसमिशन के रूप में होता है light । फाइबर ऑप्टिक केबल आपको 1 सेकंड से भी कम समय में Google.com वेबसाइट खोलने की अनुमति देता है, इसका सर्वर यूएस में है। 

आपको जानकर हैरानी होगी कि इंटरनेट के लिए 8 लाख किलोमीटर से ज्यादा फाइबर ऑप्टिक केबल समुद्र में बिछाई  गई है।

आपके पास इंटरनेट कैसे आता है?

जैसा कि हमने कहा, इंटरनेट आप तक फाइबर ऑप्टिक केबल के माध्यम से पहुंचता है, लेकिन आप जियो, आइडिया या एयरटेल इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं या कुछ लोग आपके शहर से आपके स्थानीय internet service provider (आईएसपी) से इंटरनेट कनेक्शन लेते हैं, आइए समझते हैं। 

इंटरनेट तीन तरीकों से आप तक पहुंचा है, इसलिए इस आधार पर internet service provider (आईएसपी) को तीन अलग-अलग श्रेणियों में बांटा गया है –

Tier 1 – ये internet service provider (आईएसपी) हैं जिन्होंने समुद्र में फाइबर ऑप्टिक केबल बिछाई हैं, जिन्हें टियर 1 नेटवर्क के रूप में जाना जाता है, जिसमें भारतीय कंपनी टाटा कम्युनिकेशंस शामिल हैं।

TEAR 2 – वे internet service provider (ISP) हैं जो टियर 1 नेटवर्क पर इंटरनेट सेवाएं प्रदान करते हैं और इसमें Jio, Idea, Vodafone, आदि शामिल हैं। वही आपके लिए इंटरनेट पहुंचाते है।

TEAR 3 – यह एक internet service provider (ISP) है, फिर TEAR 2 से इंटरनेट सेवाएँ लेता है और अपने स्थानीय क्षेत्र में सेवाएँ प्रदान करता है, उन्हें सीमित कनेक्शन प्रदान करने का अधिकार है। Like a triangle 

क्या इंटरनेट फ्री है?

हाँ, इंटरनेट पूरी तरह से मुफ़्त है, लेकिन आपसे जो शुल्क लिया जाता है वह आपके लिए इंटरनेट पहुंचाने की लागत है, अगर इंटरनेट चार्ज दिया गया तो आपको google.com जैसे वेब ब्राउज़र खोलने के लिए अनुमति दी जाएगी। 

भारत में इंटरनेट का मालिक कौन है?

इस प्रकार इस प्रश्न का उत्तर स्पष्ट है कि इंटरनेट पर किसी का अधिकार नहीं है, लेकिन सच यह है कि इंटरनेट का कोई एक मालिक नहीं है, हर कोई आपको एक दूसरे की सहायता से इंटरनेट सेवाएं प्रदान करता है, यह सभी के हित में है। इंटरनेट किसी भी तरह सरकार द्वारा नियंत्रित नही किया जाता। बल्कि यह विशाल और स्वतंत्र को-ऑपरेशन है। यानि इसका सीधा मतलब के इंटरनेट पर किसी संस्था, किसी व्यक्ति, सरकारी संस्था का कोई अधिकार नहीं है।

यह भी पढ़ें : 


डेटाबेस क्या है और इसके प्रकार/What is database in hindi हेलीकॉप्टर का आविष्कार किसने किया?
जीएसटी क्या है? GST IN HINDI | IAS कैसे बनें? पूरी जानकारी हिंदी में ।
स्पैम कॉल और SMS Block कैसे करें ? सूखे खुबानी के हैरान कर देने वाले फायदे
दुनिया का सबसे बड़ा धर्म कौन सा है? 8 पक्षी जो उड़ नहीं सकते
असल में इंटरनेट का मालिक कौन है   

 

01
RELATED ARTICLES

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

href="https://www.thegoldenmart.com/classified">which is the best electric car in india 2021 on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">mercedes amg g63 second hand price in india on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">what's the most reliable electric car on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">best electric cars in india below 8 lakhs on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">2nd hand cars in delhi with price on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">used hummer car price in dubai on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">price of second hand hummer h1 on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">what's the price of the cheapest electric car on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।