Home Technology कंप्यूटर वायरस क्या है? - what is a computer virus ?

कंप्यूटर वायरस क्या है? – what is a computer virus ?

कंप्यूटर वायरस क्या है? – what is a computer virus ?

कंप्यूटर वायरस क्या है? What is a Computer Virus ?  आज इस पोस्ट में हम यह जानने वाले हैं कि अपने कंप्यूटर या मोबाइल से कंप्यूटर वायरस कैसे हटाएं।

एक कंप्यूटर वायरस को केवल एक इलेक्ट्रॉनिक वायरस कहा जाता है। यदि यह आपके कंप्यूटर में आ जाता है, तो यह आपके कंप्यूटर को धीमा कर देता है, और फ़ाइलें डिलीट भी कर देता है। यह आपके कंप्यूटर, लैपटॉप या मोबाइल के लिए बहुत हानिकारक होता है। उदाहरण के लिए, यदि कोई बीमारी मानव शरीर में प्रवेश करती है, तो वह पूरे शरीर के लिए हानिकारक होती है, इसी तरह कंप्यूटर वायरस भी ऐसा ही करता है। पुरे सिस्टम के लिए खतरनाक होता है।

यह वायरस कंप्यूटर के अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए हानिकारक होता है, इनमें Melis virus, I love you and Code Red बहुत ही खतरनाक वायरस हैं।

कंप्यूटर वायरस क्या है? – what is a computer virus ?

कंप्यूटर वायरस 1971 में BBN Technologies में काम करने वाले एक इंजीनियर रॉबर्ट थॉमर द्वारा बनाया गया था।

उन्होंने जो वायरस देखा उसे “CR” वायरस का नाम दिया गया, बाद में खुद थोमर ने दावा किया कि यह एक प्रायोगिक कार्यक्रम था। और तब ARPANET के मेनफ्रेम को संक्रमित करने के लिए तैयार किया गया था।

कंप्यूटर के इतिहास में पहली बार एक फ्लॉपी डिस्क से “ELK cloner” वायरस की खोज की गई थी। ELK क्लोनर वायरस की खोज Rich Skrenta ने की थी।

मान लीजिए कि कंप्यूटर वायरस को एक प्रैंक के रूप में डिजाइन किया गया था, लेकिन अगर आपके कंप्यूटर में एक Malicious Program इंस्टॉल हो जाता है, तो यह बहुत कुछ कर सकता है और फिर आपका कंप्यूटर बंद हो जाता है और आप इसे हटा नहीं सकते।

यह भी पढ़ें :

Coding क्या है? हिंदी में Coding की जानकारी

1983 में Fred Cohen ने Malicious Program को कंप्यूटर वायरस का नाम दिया। और उन्होंने इस प्रोग्राम का नाम Acedmemic पेपर में “कंप्यूटर वायरस” रखा। और यह नाम तब सामने आया जब उन्होंने पेपर “थ्योरी एंड एक्सपेरिमेंट्स” प्रस्तुत किया। इसमें उन्होंने मैलिशियस प्रोग्राम की जानकारी दी थी।

कंप्यूटर वायरस के प्रकार ।

  1. वेब स्क्रिप्टिंग वायरस – Web Scripting Virus ।

यह वायरस वेबसाइट लिंक, विज्ञापन, इमेज लोकेशन, वीडियो से जुड़ा होता है। वेबसाइटों के लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके कंप्यूटर और मोबाइल में Malicious Code अपने आप डाउनलोड हो जाता है फिर यह वायरस आपको अन्य Malicious वेबसाइटों पर ले जाता है। इस वायरस का इस्तेमाल सोशल नेटवर्किंग के लिए किया जाता है।

  1. ब्राउज़र अपहरणकर्ता – Browser Hijackers ।

इस वायरस का उपयोग विज्ञापन से पैसे कमाने के लिए किया जाता है क्योंकि यह वायरस आपकी अनुमति के बिना किसी अन्य वेबसाइट पर चला जाता है।

  1. बूट सेक्टर वायरस – Boot Sector Virus ।

जब बूट सेक्टर वायरस का संक्रमित कोड आपके कंप्यूटर को संक्रमित करता है, तो सिस्टम संक्रमित की तरह बूट होता है। यह एक कंप्यूटर वायरस है जो हार्ड डिस्क के मास्टर बूट रिकॉर्ड (एमबीआर) को संक्रमित करता है, विशेष रूप से फ्लॉपी डिस्क के बूट सेक्टर को।

यदि संक्रमित कोड कंप्यूटर तक पहुँचता है तो यह वायरस दूसरी फ़्लॉपी डिस्क को संक्रमित कर सकता है।

  1. डायरेक्ट एक्शन वायरस – Direct Action Virus

इस वायरस का काम आपके प्रोग्राम को कॉपी करना और फाइलों को संक्रमित करना है। यह वायरस कुछ फाइलों में अटैक करता है। यह वायरस .com और .exe एक्सटेंशन जैसी फाइलों से संक्रमित हो सकता है, जो अभिभावक उस फाइल को नहीं खोलेगा वह वायरस अटैक नहीं है और यह वायरस एंटीवायरस के जरिए आसानी से जा सकता है।

  1. फाइल इन्फेक्टर वायरस –  File Infector Virus

यह वायरस आपके कंप्यूटर प्रोग्राम को धीमा कर देता है और अन्य फाइलों को भी प्रभावित कर सकता है। यह आपके कंप्यूटर पर मौजूद एप्लिकेशन को संक्रमित कर सकता है।

  1. नेटवर्क वायरस – Network Virus

यह वायरस इंटरनेट और स्थानीय नेटवर्क लैन से प्रवेश कर सकता है। इस वायरस का उपयोग आपके नेटवर्क को धीमा करने के लिए किया जा सकता है।

  1. बहुपक्षीय वायरस –  Multipartite Virus

इस प्रकार के वायरस विभिन्न माध्यमों से सिस्टम को नुकसान पहुंचा सकते हैं। यह वायरस बूट सेक्टर और निष्पादन योग्य फाइलों को संक्रमित करता है।

  1. मैक्रो वायरस – Macro virus

यह वायरस वर्ल्ड प्रोसेसिंग और स्प्रेडशीट एप्लिकेशन (एमएस एक्सेल, एमएस वर्ल्ड) से आता है। मैक्रोज़ वाले अनुप्रयोगों और सॉफ़्टवेयर को इंटेक्ट करता है।

  1. निवासी वायरस – Resident Virus

यह एक कंप्यूटर वायरस है जो स्वयं को रैम मेमोरी में सम्मिलित करता है, और अन्य फाइलों और प्रोग्रामों को संक्रमित करना शुरू कर देता है। रेजिडेंट वायरस के उदाहरण हैं CMJ, MEVE, Mrklunky और Randex।

  1. एन्क्रिप्टेड वायरस – Encrypted Virus

यह एक ऐसा वायरस है जिसे Antivirus से भी हटाना मुश्किल है, क्योंकि इस वायरस को फैलाने के लिए एन्क्रिप्टेड मैलिशियस कोड का इस्तेमाल किया जाता है।

यह वायरस आपकी कंप्यूटर फाइलों और प्रोग्रामों को नुकसान नहीं पहुंचाता है लेकिन आपके पीसी के प्रदर्शन को धीमा कर देता है।

यह भी पढ़ें :

दुनिया का सबसे बड़ा पवन टरबाइन।

कंप्यूटर वायरस के लक्षण – symptoms of computer virus ।

कंप्यूटर वायरस के लक्षण क्या हैं और आपको कैसे पता चलेगा कि वायरस आपके कंप्यूटर में प्रवेश कर गया है?

आपका कंप्यूटर धीमा चल रहा है।

कंप्यूटर स्क्रीन पर समान पॉप अप।

कार्यक्रम स्वचालित रूप से प्रारंभ करने के लिए।

फ़ाइलों को स्वचालित रूप से गुणा/डुप्लिंग करना।

कंप्यूटर में नई फाइलों और प्रोग्रामों की स्वचालित स्थापना।

फ़ाइल फ़ोल्डर स्वचालित विलोपन और कार्यक्रमों का भ्रष्टाचार।

हार्ड ड्राइव में एक अलग आवाज।

यदि आपका सिस्टम इन लक्षणों को दिखाता है, तो आपका सिस्टम वायरस से संक्रमित है। इसे हटाने के लिए आप एटिवायरस इनस्टॉल करुन को हटा सकते हैं।

यह भी पढ़ें :

डिजिलॉकर क्या है ? Information about DigiLocker |

वायरस से बचने के उपाय – Ways to avoid virus।

आपके सिस्टम में एंटीवायरस इंस्टॉल होना चाहिए और इसे समय-समय पर अपडेट करना जरूरी है।

जब आप एक नया ईमेल प्राप्त करते हैं, तो उसे तब तक न खोलें जब तक आप ईमेल के बारे में अधिक नहीं जानते।

अनाधिकृत वेबसाइट वरुण एमपी3, मूवी, सॉफ्टवेयर जैसी फाइलों को डाउनलोड न करें।

अपने सिस्टम से वायरस को हटाने के लिए डाउनलोड की गई फाइलों को स्कैन करें।

पेन ड्राइव, हार्ड डिस्क को स्कैन करने के बाद ही इसका इस्तेमाल करें।

केवल उन वेबसाइटों पर जाएं जो आधिकारिक वेबसाइटें हैं।

वायरस से बचाव के लिए ऐसा न करें ।

अज्ञात ईमेल अटैचमेंट न खोलें।

अनाधिकृत वेबसाइटों से वरुण सॉफ्टवेयर डाउनलोड न करें।

ऐड पर क्लिक न करें। उड़ान लॉटरी कूपन, कैशबैक, फ्री मोबाइल रिचार्ज।

कंप्यूटर वायरस कैसे हटाएं? – How to remove computer virus?

कंप्यूटर वायरस को हटाने के लिए सबसे पहले कंप्यूटर को पूरी तरह से स्कैन करना जरूरी है ताकि आपको पता चल सके कि आपके सिस्टम में वायरस है या नहीं। इसके लिए आपको एक अच्छा एंटीवायरस डाउनलोड करना होगा।

इस एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का प्रयोग करें – use this antivirus ।

Quick Heal

Kaspersky Internet Security

Bit Defender

Norton

McAfee

Avast

Guardian Total security

Avg antivirus

k7 Antivirus

Avira


यह भी पढ़ें :

SEO क्या है और नई वेबसाइट के लिए SEO कैसे करें? Google Meet क्या है? और Google Meet का उपयोग कैसे करें.

कंप्यूटर वायरस – Vikaspedia

01
जेफ बेजोस जीवनी – Jeff Bezos Biography in Hindi।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

href="https://www.thegoldenmart.com/classified">which is the best electric car in india 2021 on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">mercedes amg g63 second hand price in india on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">what's the most reliable electric car on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">best electric cars in india below 8 lakhs on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">2nd hand cars in delhi with price on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">used hummer car price in dubai on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">price of second hand hummer h1 on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।
href="https://www.thegoldenmart.com/classified">what's the price of the cheapest electric car on पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें।